घर से लापता व्यक्ति नौ दिनों बाद पेड़ पर लटका मिला

205

मृगेंद्र पाल
मानसिक तनाव के कारण उठाया ऐसा कदम, कुछ महीनों से रहता था गुमसुम
गोहर
: उपमंडल गोहर की चैलचौक पंचायत के घ्याहण गांव से पिछले नौ दिनों से लापता व्यक्ति का शव चैल चौक के समीप जंगल में पेड़ पर लटका हुआ मिला। पुलिस ने आत्महत्या का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। घटना की सूचना मिलते ही समूचे इलाके में हड़कंप मच गया है। शव क्लॉउटी के समीप बैंटलु नाला के पेड़ पर लापता किशोरी लाल लटका हुआ मिला। व्यक्ति नौ दिन पहले अपने घर से सुबह होने से पूर्व ही कमरे से निकल गया, परिवार के सभी सदस्य गहरी नींद सोए हुए थे। अचानक घर से गायब होने पर घर वालों ने उसकी हर जगह तालाश की मगर लापता का कहीं भी अतापता नहीं चल रहा था। इस कारण थकहार कर घर बालों ने इसकी सूचना गोहर थाना में 21 तारीख को दर्ज करवा दी थी। पुलिस की तलाश जारी थी और परिजन भी रोजाना उसकी तलाश में लगे हुए थे। हर रोज की तरह सोमवार को भी किशोरी के रिश्तेदार जब उसे पास के जंगलों में उसे ढूंढ रहे थे तो उसके भानजे ने किशोरी को क्लोट्टी मोड़ के समीप जंगल में पेड़ पर लटका हुआ पाया। उसने परिजनों को बुलाया तो शव देखकर सबके होश उड़ गए। शव मिलने की सूचना इलाके आग की तरह फैल गई और लोगों का जमघट जंगल मे लग गया। पंचायत प्रधान की ओर से पुलिस को सूचित किया गया। इसकी सूचना घर बालों ने पुलिस को दी व थाना प्रभारी गोहर संजीव चौधरी पुलिस टीम सहित मौका पर पहुंच गए। पुलिस ने घर बालों के बयान दर्ज कर लिए है। पुलिस को प्रारंभिक तहकीकात में कोई भी सुसाइड नोट नहीं मिला है। प्रथम पहलू में यह आत्महत्या का ही मामला लग रहा है। 

दो दिनों से बैंटलु नाला से आ रही थी गंदी दुर्गंध
नौ से पेड़ पर लटके शव अब बुरी तरह दुर्गंध दे रहा था। बैंटलु नाला के पास से गुजरने वाली सड़क पर चलने वाले वाहनों तक में अजीब सी दुर्गंध से पहुंच रही थी। लेकिन इस बात की किसी को कानोंकान खबर नहीं थी कि आसपास कोई शव लटका होगा। गोहर के सरकारी दफ्तरों में डियूटी देने वाले कई कर्मचारियों ने बताया कि दो दिनों से नाले के समीप बदबू का आलम था। नौ दिनों शव काफी सडग़ल गया था। परिजनों ने कपड़ों से पहचान कर ली। किशोरी लाल ने ऐसा कदम क्यों उठाया सबकी समझ से परे है। मृतक अपने पीछे पत्नी एक बेटी व केजी में पढ़ने वाला बेटा छोड़ गया है। उसकी मौत से गांव में सन्नटा पसरा हुआ है।