मंडे मीटिंग में फिर मिले नगरपरिषद को कड़े निर्देश

59

रजनीश शर्मा

  • उपायुक्त ने कहा , आय में बढ़ोतरी के लिए कार्य योजना तैयार करे नगर परिषद
    हमीरपुर
    : मंडे मीटिंग में एक बार फिर नगरपरिषद हमीरपुर को कड़े निर्देश मिले हैं। इससे पहले भी दो तीन बार बैठकों में सफ़ाई व्यवस्था को लेकर नगरपरिषद हमीरपुर की खिंचाई हो चुकी है। बैठक में नगर परिषद को बस स्टैंड के पास बने परिसर की खाली दुकानों को तुरंत किराये पर चढ़ाने बारे निर्देश जारी किए गये । उपायुक्त हरिकेश मीणा की अध्यक्षता में सोमवार को यहां हमीर भवन में साप्ताहिक समीक्षा बैठक (मंडे मीटिंग) का आयोजन किया गया। इसमें नगर परिषद क्षेत्र में सफाई व्यवस्था सुदृढ़ बनाने सहित विभिन्न मदों पर चर्चा की गयी।

हरिकेश मीणा ने कहा कि हमीरपुर शहर में घर-घर से कूड़ा एकत्रीकरण की योजना में लोगों का सहयोग सबसे महत्वपूर्ण है। नगर परिषद अधिकारी सुनिश्चित करें कि कूड़ा एकत्रीकरण व निस्तारण में किसी तरह का व्यवधान न हो। व्यवसायिक परिसरों से कूड़ा-कचरा एकत्र करने के लिए प्रातः दस बजे तक का समय निर्धारित किया गया है। शहर में भारी मात्रा में कूड़ा-कचरा पैदा करने वाले संस्थानों व परिसरों की पहचान कर इसके निस्तारण की भी उचित व्यवस्था की गई है। उन्होंने आग्रह किया कि नगर परिषद अपनी आय-व्यय के अंतर को कम करने तथा आय में बढ़ोतरी के लिए नई कार्य योजना बनाए और इसके क्रियान्वयन के लिए ठोस कदम उठाए।

उन्होंने नगर परिषद को निर्देश दिए कि हमीरपुर बस अड्डे के समीप बनी दुकानों के आवंटन इत्यादि के बारे में दो दिनों के भीतर ब्यौरा प्रस्तुत करें और सड़कों पर अतिक्रमणकारियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई अमल में लाने के लिए शीघ्र कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग से आग्रह किया कि बस अड्डे से भोटा चौक तक सड़क किनारे चैंबर इत्यादि का कार्य एक सप्ताह में पूरा करें ताकि वहां टायरिंग का कार्य प्रारंभ किया जा सके।

उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रों में आवासहीन लोगों को भूमि उपलब्ध करवाने के लिए भी ठोस कदम उठाए जा रहे हैं। इसके लिए राजस्व विभाग नगर परिषद के साथ मिलकर कार्य कर रहा है। पात्र लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत गृह निर्माण हेतु सहायता उपलब्ध करवाई जा रही है। उन्होंने उपमंडलाधिकारी (ना.) हमीरपुर से आग्रह किया कि वे स्वयं इसकी समीक्षा करें और पात्र परिवारों की पहचान तथा भूमि की उपलब्धता इत्यादि के बारे में भी जानकारी लें।

इस अवसर पर सहायक आयुक्त राज किशन, उपमंडलाधिकारी (ना.) डॉ. चिरंजी लाल, पुलिस उप अधीक्षक रेणु शर्मा सहित विभिन्न विभागों के उच्चाधिकारी उपस्थित थे।